रक्षा बंधन,बंधन प्यार और विश्वास का

​   

Spread Positivity

                  रक्षा बंधन का त्यौहार भी
                       बड़ा प्यारा सा होता है

              भाई बहन के बीच के “अटूट”
                      बंधन को बड़े प्यार से “संजोता” है ।

              ” बालमन” हमेशा इस दिन मिलने वाले
                      उपहारों के लिए “ललचाता” है।

               चली आ रही है हमारी “परंपरा”
                      सदियों पुरानी
                इनसे जुड़ी है ढेरों “कहानी”।

               लेकिन सिर्फ उपहारों के दम पर ही
                     यह रिश्ता नही निभता है।

               बदल गया है आजकल जमाना, फिर भी
               “रक्षासूत्र”आज भी अपना वचन निभाता है ।

               बहन पर आती हुई “विपदा” को देखकर
                भाई हमेशा अपने हाथों को बढ़ाता है।

Spread Positivity

                “कान्हा” जी और “द्रौपदी” के ,भाई बहन के
                    रिश्ते से संसार “अंजान”तो नहीं
                “चीरहरण” के समय बढते हुए चीर से
                 आश्चर्य चकित रह गई थी “जनसभा” ।

                 हमारी “पौराणिक कहानियाँ” हमेशा
                   रक्षाबंधन का महत्व बताती हैं।

                आधुनिकता के इस दौर मे इस तरह
                 की कहानियाँ हमारी “सभ्यता” और
                “संस्कृति” को निश्चित तौर पर बचाती हैं।

( समस्त चित्र internet के सौजन्य से ) 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s