जिद्दी मोबाइल (Stubborn Mobile )

Spread Positivity

समय बड़ी तेजी से परिर्वतित होता है ,उसके साथ-साथ हमारी जरूरतें भी बदलती हैं ।आजकल मेरे ख्याल से सबसे उपयोगी सामान मोबाइल फोन हो गया है ।

मोबाइल फोन के बिना हर किसी को अपना जीवन असंभव सा लगता है और अगर आपके पास स्मार्ट फोन है तब तो “सोने पर सुहागा” वाली बात हो जाती है ।

लेकिन सबसे बड़ी समस्या तब आती है जब लोग अपने फोन को इधर उधर रख कर भूल जाते है या अपने फोन की टच स्क्रीन की गलती के कारण वो असहज स्थिति मे पहुँच जाते है ।
 
इसी तरह की छोटी-छोटी चीजों को मैने अपने आस पास भी बड़े ध्यान से देखने के बाद कुछ लिखना शुरू किया …..

  

Spread Positivity

        मेरा मोबाइल फ़ोन भी आजकल अपनी ज्यादा ही अक्ल

                                     लगाने लगा है
         कुछ भी टाइप करते ही अपने दिमाग का भरपूर उपयोग
                                    करने लगता है
       
                आटोकरैक्ट से हमेशा सुधारने मे जुट जाता है
                सिर्फ इसी कारण से कई बार अर्थ का अनर्थ
                                     कराता है

                 अगर आप लोगों के पास हो इसका कोई हल
                 तो जल्दी बतायें मुझे बिना व्यर्थ किये एक पल

                  कभी-कभी दूसरे को भी समझ लिया करो
                            अपने से ज्यादा अक्लमंद
                         चला करो हमेशा थोड़ा सा मंद

          आधा अधूरा ही टाइप कर पाती हूँ तभी तुम दौड़ लगाते हो
          आधा पीछे ही रह जाता है और आधे मैसेज को ही दूसरों के
                               पास पहुँचाते हो

                   हिन्दी भाषा की वर्णमाला को बिना सोचे समझे
                       अंग्रेजी के एल्फाबेट से जाँचते हो

             सही लिखे हुये शब्दों को भी सुधारने मे जुट जाते हो
                    बार बार समझाने पर खुद पर इतराते हो

           हर समय सजाते रहते हो अपने आप को व्हाटसएप के जोक्स से
            जोक्स के चक्कर मे डालते हो लोगों की काल्स को वेट पे

                  खबरदार ! अगर किया वीडियोज़ को आपरेट
            करते रहा करो हमेशा अपने आप को नये मैसेज से अपडेट

                      दिखते तो हो शक्ल सूरत से ठीक ठाक
             क्यूँ नही आखिर मिला जो है तुम्हे स्मार्ट फोन का खिताब

            समझाती हूँ तुम्हे हमेशा प्यार से , मत इतराया करो घमंड से
            चार्जिंग प्वाइंट पर लगाये जाते हो हमेशा मेरे ही कर्म से

         होते ही थोड़ा सा चार्ज , खुशी से अपने दाँतों को दिखाते हो
         समय समय पर मैसेज की बीप के बहाने ही अपनी
                            उपस्थिति दर्शाते हो

        समझा रही हूँ तुम्हें कई दिनो से ,मत लगाया करो अपनी ज्यादा अक्ल
                अब जाओ जाकर सुधार लो जरा अपनी शक्ल

        किसने कहा था तुम्हे रसोई मे घूमने जाने को अगर गये भी
                  तो क्या जरूरत थी खाने को हाथ लगाने की
 
        अभी के अभी तुम अपनी लक्ष्मण रेखा निर्धारित करो
             कम से कम बाथरूम और फ्रिज से तो दूर रहो
              नही तो पड़ जाओगे  बुरी तरह से बीमार
              मै नही तुम्हारी तीमारदारी के लिये तैयार

         कल की ही तो बात है तुम घूम रहे थे तेल के पास
         उसके बाद ही लगाया था तुमने अपने सिर पर तेल
         अब ये तो बताओ बिना बालों वाला तुम्हारा सिर
                   और इस तेल का क्या है मेल

         देखा है कभी किसी और के मोबाइल को यूँ ही तेल मे नहाते हुये
              मुझे पता है सिर्फ तुम्हारे ही हैं ये तरह तरह के खेल

Spread Positivity

                    बहुत बढ़ गया है आजकल तुम्हारा मन
            उस दिन सब्जियों की टोकरी मे ही आराम फरमा रहे थे
       इसी बहाने धनिया की पत्ती और हरी मिर्ची से दोस्ती बढ़ा रहे थे
 
                  किसी दिन हो जाओगे कढ़ाई मे डीप फ्राई
              फिर मत आना कूदते फांदते हुये मेरे पास मेरे भाई
       

Spread Positivity

( समस्त चित्र internet के सौजन्य से ) 

                           

Advertisements

4 thoughts on “जिद्दी मोबाइल (Stubborn Mobile )

  1. हाहाहा…..क्या जीवंत वर्णन किया है आपने मोबाइल मुश्किलो का. कभी कभी मन में ख़याल आता है , काश मोबाईल जवाब दे पाता -“मैं यहाँ हूँ !!! तुम्हारे तकिये के नीचे…..😊😊😊😊

    Like

  2. आपने मेरे मन की बात कह डाली काश ! ऐसा होता तो मेरी आधी समस्या का समाधान बिना इस पोस्ट को लिखे ही हो जाता , मेरे मोबाइल ने ही मजबूर कर दिया मुझे उसकी बुराई करने के लिये 😊

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s